चालू वित्त वर्ष में जीडीपी की वृद्धि दर -11.5 प्रतिशत, अगले वित्त वर्ष में 10.6 प्रतिशत की वृद्धि

12 Investment Ideas for Beginners - TheStreetमूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था में वृद्धि के पूर्वानुमान को और धीमा कर दिया है। एजेंसी ने चालू वित्त वर्ष के लिए अपने सकल घरेलू उत्पाद के विकास के पूर्वानुमान को और घटा दिया है। एजेंसी ने चालू वित्त वर्ष के लिए -4 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया था। मूडीज ने एक रिपोर्ट में कहा कि कमजोर वित्तीय प्रणाली, बढ़ते कर्ज के बोझ और धीमी वृद्धि ने भारत की क्रेडिट प्रोफाइल पर दबाव डाला है, जबकि कोरोना वायरस महामारी का उन्मूलन नहीं किया है।

Fixed Deposit, Gold or Equity? How to invest for best returns in times like  COVID-19 - The Financial Express

चालू वित्त वर्ष में जीडीपी की वृद्धि दर -11.5 प्रतिशत, अगले वित्त वर्ष में 10.6 प्रतिशत की वृद्धि

रेटिंग एजेंसी ने एक रिपोर्ट में कहा कि अर्थव्यवस्था और वित्तीय प्रणाली पर गहरा दबाव राजस्व स्थिति पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है, जो बदले में देश की क्रेडिट प्रोफाइल पर और दबाव डाल सकता है। यह याद किया जा सकता है कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान जीडीपी में -23.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

हालांकि, रेटिंग एजेंसी ने अगले वित्त वर्ष 2021-22 में भारतीय अर्थव्यवस्था को 10.6 प्रतिशत की दर से बढ़ने का अनुमान लगाया है। अगले वित्त वर्ष में जीडीपी वृद्धि के लिए मूडी का पूर्वानुमान एक राहत है।

Leave a Comment