जो ईर्ष्या करता है वह मानसिक रूप से स्थिर नहीं हो सकता है !

जो ईर्ष्या करता है वह मानसिक रूप से स्थिर नहीं हो सकता है ईर्ष्या एक बहुत छोटा लेकिन भयानक शब्द है। इसे एक तरह की मानसिक बीमारी कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी। वास्तव में, ईर्ष्यालु व्यक्ति दूसरों से नफरत करके खुद को नुकसान पहुंचा रहा है। ईर्ष्या व्यर्थता और संकीर्णता से पैदा होती है। बुद्धिमान कहते …

Read moreजो ईर्ष्या करता है वह मानसिक रूप से स्थिर नहीं हो सकता है !