पुराना रेशा,नाक की एलर्जी दमा मरीजों के लिए रामबाण उपाय||Asthma Symptoms,Treatments

Asthma Symptoms,Treatments.सर्दियों के मौसम में पुराना रेशा जुकाम खांसी सांस की एलर्जी दमा अस्थमा के मरीजों को सबसे ज्यादा मुश्किल का सामना करना पड़ता है. दमा अस्थमा किसी भी उम्र के इंसान में हो सकता है कोई भी हो स्त्री पुरुष बुजुर्ग या फिर बच्चे WHO के अनुसार पूरी दुनिया में 339 मिलियन से भी ज्यादा लोग इस रोग से पीड़ित है पुराने बुजुर्ग के मुताबिक जिनके शरीर में रोग प्रतिरोध की काफी कमी है.उन को सबसे ज्यादा इस सांस की समस्या का सामना करना पड़ता है.

पुराना रेसा,नाक की एलर्जी दमा मरीजों के लिए रामबाण उपाय||Asthma Symptoms,Treatments

दमा अस्थमा क्यों होता है

दमा फेफड़े के साहस लेने के साथ यह बीमारी जुड़ी होती है जैसे के साहस की नाली में सूजन बढ़ जाती है तो साहस वाले रास्ते बंद हो जाते हैं. इस बीमारी के साथ पीड़ित व्यक्ति को सांस लेने में काफी मुश्किल होती है.अस्थमा के मरीज को खांसी के कारण फेफड़ों में कई बार रेशा भी बाहर नहीं निकल पाता तो मरीज को फिर काफी परेशानी होती है कई लोगों को धूल मिट्टी की एलर्जी या फिर मौसम के बदलाव दवाइयां कई बार तो पाउडर जा फिर अगरबत्ती के धुए से एलर्जी हो जाती है.

दमा अस्थमा के लक्षण

बार बार खांसी आना सांस लेते हुए सीटी की आवाज आना चेस्ट में जकड़न और भारीपन,सांस फूलना,खांसी बड़ी मुश्किल से आना.रेशा बाहर ना निकलना गले का सूखना और बेचैनी होना यह सब अस्थमा के लक्षण होते हैं.

किन चीजों का परहेज करें

मरीज को बारिश सर्दी धूल मिट्टी की जगह से थोड़ा दूर रहना चाहिए.ज्यादा ठंडे और गर्म वातावरण में नहीं जाना चाहिए.घर से बाहर निकलने से पहले मास्क जरूर लगाना चाहिए सर्दी और मौसम में कोरे में जाने से बचना चाहिए.ताजा कहीं घर को पेंट किया हो वहां मत जाएं,अगरबत्ती,परफ्यूम जा फिर मीठा,ठंडा पानी कोल्ड ड्रिंक,फास्ट फूड को कम से कम खाएं.

पुराना रेसा,नाक की एलर्जी दमा मरीजों के लिए रामबाण उपाय||Asthma Symptoms,Treatments

अस्थमा का आयुर्वेदिक इलाज कैसे करें

Treatment of asthma in adults.अगर आप पुराने जुकाम खांसी बलगम सांस की एलर्जी कानों में आवाज आना अस्थमा रोगों से काफी प्रसन्न हो चुके हैं.बहुत सारी दवाई खा चुके हैं शुद्ध आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से बनी खास दवाई जिसका देश विदेश बैठे हजारों मरीज इसका लाभ उठा रहे हैं अस्थमा से होने वाली समस्या के लिए यह दवाई अच्छी मानी जाती है इसे देसी दवाई भी कहा जाता है इसे कोई भी ले सकता है इस्त्री हो पुरुष या फिर बच्चे इस दवाई का 15 दिनों में काफी अच्छा रिजल्ट मिलेगा.

इसके अलावा पुरानी से पुरानी बवासीर या फिर कोई मौके निकलना,खून आना कई बार तो और औरतों में सफेद पानी वजन बढ़ जाना चमड़ी के रोग जोड़ों के दर्द शुगर की समस्या हो यह आयुर्वेदिक दवाई जरूर इस्तेमाल करें.

कहां से खरीदें

अगर आप बहुत सारी दवाइयों का इस्तेमाल कर चुके हैं तो एक बार रोशन हेल्थ केयर रेलवे रोड जालंधर आयुर्वेदिक क्लीनिक पर जरूर आए आपकी हर बीमारी का इलाज मिलेगा.अगर आपने Online इस दवाई को मंगवाना है तो इस नंबर पर संपर्क करें आपको घर बैठे बटाए दवाई मिल जाएगी(+917347307214)

Leave a Comment